हिन्दी साहित्य के उज्ज्वल नक्षत्र राष्ट्रकवि श्री मैथिलीशरण गुप्त का जन्मदिवस है कल। प्रस्तुत है उनका प्रसिद्ध और विख्यात गीत, ’सखि वे मुझसे कह कर जाते!’ – पढ़े भी और सुनें भी। सखि, वे मुझसे कहकर जाते, कह, तो क्या…