मेरी प्रविष्टि ’बस आँख भर निहारो मसलो नहीं सुमन को’ पर तरूण ने एक टिप्पणी दी –   ‘सबसे जबरदस्त पहली लाइन’ । मेरे लिये एक…