Monthly Archives

April 2010

Ramyantar, भोजपुरी

भोजपुरी के तुलसीदास ’रामजियावन दास’ : कवि ’बावला’

रामजियावन दास ’बावला’ को पहली बार सुना था एक मंच पर गाते हुए ! ठेठ भोजपुरी में रचा-पगा ठेठ व्यक्तित्व ! सहजता तो जैसे निछावर हो गई थी इस सरल व्यक्तित्व पर ! ’बावला’ भोजपुरी गीतों के शुद्ध देशज रूप…

Ramyantar

ध्वनित नारीत्व : शलभ श्रीराम सिंह

मृत्यु ! शलभ श्रीराम सिंह जन्म : 05-01-1938 मृत्यु : 22-04-2000 जन्म स्थान : मसोदा, जलालपुर, फैजाबाद (अम्बेडकर नगर), उ०प्र० प्रकाशन : कल सुबह होने के पहले, अतिरिक्त पुरुष,त्रयी-२ में संकलित, राहे-हयात, निगाह-दर-निगाह, नागरिकनामा, अपराधी स्वयं, पृथ्वी का प्रेम गीत,…