Category

Blog & Blogger

Blog & Blogger, Ramyantar

अंग्रेजी में हिन्दी का रचना संसार : शुरुआत भर कर रहा हूँ

हिन्दी साहित्य की अबाध धारा निरन्तर प्रवाहित हो रही है और उसकी श्री वृद्धि निरन्तर दृष्टिगत हो रही है। हिन्दी साहित्य के विविध आयामों में इतना सबकुछ जुड़ता और संचित होता चला जा रहा है कि हमारी राष्ट्रभाषा का कोश…

Article, Blog & Blogger, General Articles, Hindi Blogging, Ramyantar, आलेख

निंदक-वंदना का विवेक-सत्‍य

Screenshot of Vivek Singh’s Blog ‘निंदक नियरे राखिये’ की लुकाठी लेकर कबीर ने आत्‍म परिष्‍कार की राह के अनगिनत गड़बड़ झाले जला डाले। ब्‍लागरी के कबीरदास भी इसी मति के विवेकी गुरूघंटाल हैं। कबीर ने तो खुद को कहा था,…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

किसी हिन्दी चिट्ठे के सौ प्रशंसक होने का मतलब (हिन्दी ब्लॉग टिप्स का सन्दर्भ)

आज की लेखनी (या उसे चिट्ठाकारी कहिये) का गुण है कि वह पठनीय हो कि जटिलताओं के अवकाश को भरने के लिए और दुर्वह स्थितियों से पलायन के लिए वह हमारी सहायता करे। पठनीयता के साथ अपने आप एक विशेषण…

Article, Blog & Blogger, Contemplation, Hindi Blogging, आलेख, चिंतन

रचना का स्वान्तःसुख, सर्वान्तःसुख भी है

बिना किसी बौद्धिक शास्त्रार्थ के प्रयोजन से लिखता हूँ अतः ‘हारे को हरिनाम’ की तरह हवा में मुक्का चला लेता हूँ, और अपनी बौद्धिक ईमानदारी निभा लेता हूँ। स्वान्तःसुखाय रचना भी विमर्श के झमेले में पड़ जाय तो क्या करें…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

मैं कुन्नू सिंह के ‘कुन्नू ब्लॉग से अपना ताल्लुक नहीं बना पाता

“इस नजाकत का बुरा हो , वो भले हैं तो क्या। हाथ आयें तो उन्हें हाथ लगाये न बने॥” (ग़ालिब ) तकनीकी रूप से सिद्धहस्त हैं तो भी क्या ? अपनी नयी निराली प्रविष्टियों के लिए बहुप्रशंसित हैं तो भी…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

कुछ कहने का मन करता है (रवीश कुमार के ‘क़स्बा’ की चर्चा :’क़स्बा की प्रविष्टियों का सन्दर्भ )

A Screenshot of Qasba मैं ठीक अपने कस्बे की तरह एक कस्बे (क़स्बा -रवीश कुमार का ब्लॉग) का जिक्र करना चाहता हूँ जो मेरे कस्बे की तरह रोज तड़के चाय की भट्ठियों के धुँए के बीच आँखे मुँचमुँचाता, सजग होता-सा…