Category

Hindi Blogging

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

प्राणों के रस से सींचा पात्र : बाउ (समापन किस्त)

एक आलसी का चिट्ठा– गिरिजेश भईया का चिट्ठा, स्वनाम कृतघ्न आलसी का चिट्ठा। यहाँ पहुँचते ही होंगे अवाक! टिप्पणी को विचारेंगे, होंगे किंकर्तव्यविमूढ़। अगिया बैताली और स्थितप्रज्ञ- दोनों एक साथ। बिलकुल बाउ की तरह। बाउ, माने भईया का बनाया एक…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

प्राणों के रस से सींचा पात्र :बाउ (गिरिजेश भईया की लंठ महाचर्चा)

एक आलसी का चिट्ठा– गिरिजेश भईया का चिट्ठा, स्वनाम कृतघ्न आलसी का चिट्ठा। यहाँ पहुँचते ही होंगे अवाक! टिप्पणी को विचारेंगे, होंगे किंकर्तव्यविमूढ़। अगिया बैताली और स्थितप्रज्ञ- दोनों एक साथ। बिलकुल बाउ की तरह। बाउ, माने भईया का बनाया एक…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

मैं चिट्ठाकार हूँ, पर…

मैं चिट्ठाकार हूँ, पर अनूप शुक्ल जैसा तो नहीं , जिनकी लेखनी उनके प्राचुर्य का प्रकाश है । यह प्राचुर्य का प्रभाव ही है न, जिससे मानव अपने को अभिव्यक्त करता है । वह अपने को बहुतों में, क्षुद्र को…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Literature and Blog, Ramyantar

क्या ब्लॉग साहित्य है ? – मेरी हाजिरी

बिजली आ गयी । हफ्ते भर बाद । ’बूड़े थे पर ऊबरे’ । बिजली की अनुपस्थिति कुछ आत्मबोध करा देती है । रमणियों की तरह इसकी एक झलक पाने की उत्कंठा रहने लगी है मन में । आज ही, अभी…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

टिप्पणी अदृश्य होकर करते हैं हम …

आशीष जी की यह पोस्ट पढ़कर टिप्पणी नियंत्रण का हरबा-हथियार (मॉडरेशन) हमने भी लगाया ही था कि पहली टिप्पणी अज्ञात साहब की ही आ गयी । रोचक है, और उपयोगी भी । कितना सच्चा अर्थ पकड़ा है उन्होंने मेरी कविता…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

ये हुई न टिप्पणी !

टिप्पणीकारी को लेकर काफी बातें करते रहने की जरूरत हमेशा महसूस होती है मुझे । मैं इस चिट्ठाजगत में टिप्पणीकारी के अर्थपूर्ण स्वरूप को लेकर विमर्श करते रहने का हिमायती हूँ । पर आज अपनी इस प्रविष्टि में मैं किसी…

Blog & Blogger, Hindi Blogging, Ramyantar

ब्लॉगवाणी पर अभी कुछ कार्य, सुधार शेष है

ब्लॉगवाणी का चिट्ठा संकलकों में एक प्रतिष्ठित स्थान है । ज्यादातर चिट्ठों के अनेकों पाठक इस संकलक के माध्यम से ही पहुँचते हैं । मेरे आँकड़ों में भी ज्यादातर पाठक इस संकलक से ही आते हैं । हर चिट्ठे की…

Hindi Blogging, Ramyantar

हिन्दी ब्लॉग-लेखन : टिप्पणीकारी : कहता ही जा रहा हूँ

टिप्पणीकारी केन्द्रित अपने पूर्ववर्ती आलेखों में मैं यह समझने का प्रयास करता रहा कि टिप्पणीकारी का अपना एक निजी सौन्दर्यशास्त्र निर्मित हो, जिससे वह चिट्ठाकारी के विभिन्न उद्देश्यों को समुचित ढंग से पूर्ण करने में सहायक सिद्ध हो और अभिव्यक्ति…

General Articles, Hindi Blogging, Ramyantar

हिन्दी ब्लॉग लेखन: टिप्पणीकारी: Sow the wind and reap the whirlwind

पिछली प्रविष्टि का शेष . “Sow the wind and reap the whirlwind” की प्रवृत्ति ने भी टिप्पणीकारी का चरित्र बहुत अधिक प्रभावित किया है । यह अनुभव भी बहुत कुछ प्रेरित करता रहा टिप्पणीकारी पर लिखने के लिये । मन…

General Articles, Hindi Blogging, Ramyantar

हिन्दी ब्लॉग लेखन: टिप्पणीकारी: जो मन ने कहा

टिप्पणीकारी को लेकर सदैव मन में कुछ न कुछ चलता रहता है। नियमिततः कुछ चिट्ठों का अध्ययन और उन चिट्ठों पर और खुद के चिट्ठे पर आयी टिप्पणियों का अवलोकन बार बार विवश करता रहा है कुछ व्यक्त करने के…