मेरी इस प्रविष्टि में मैंने और चारुहासिनी ने एक गीत ’सखिया आवा उडि़ चलीं..’ गाया था ! मेरे और चारुहासिनी द्वारा गाए युगल गीत को अर्चना जी ने अपनी आवाज दी है प्रस्तुत प्रविष्टि में ! गीत उन्हें अच्छा लगा, उन्होंने गाया ! बात यह भी बतानी जरूरी है कि अर्चना जी भोजपुरी नहीं जानतीं, फिर भी गीत उन्हें लुभा गया और इस गीत को गाने की बात उन्होंने सोची ! अपने ब्लॉग ’मेरे मन की’ पर अर्चना जी इन दिनों बहुत-से खूबसूरत पॉडकॉस्ट कर रही हैं ! वहाँ पहुँचे, उन्हें सुनें..सराहें ! अर्चना जीहिन्द-युग्म ’के पोर्टल आवाज के लिए भी अपनी आवाज दे रही हैं ! सुनिये अर्चना जी की आवाज़ में बाबूजी का  लिखा गीत ’सखिया आवा उडि़ चलीं…