सच्चा शरणम्
All rights are reserved @ramyantar.com.

महाराष्ट्र के शनिदेव बनाम असली शनिदेव

महाराष्ट्र के शनि देव (राज ठाकरे की बात कर रहा हूँ) हमारे असली शनिदेव से ज्यादा खतरनाक हो गए लगते हैं। बिहारियों, उत्तर भारतीयों पर दृष्टि पड़ी कि वे संकट में पड़े। मामला बहुत कुछ क्षेत्रवाद आदि का नहीं, स्वभाव का है। शनिदेव ने मुझे बहुत सताया है,मैं बहुत डरता हूँ शनिदेव से क्योंकि मैं उनकी मंशा नहीं समझ पाता। बैठे ठाले परेशान करने की आदत है उनकी- बिल्कुल राज ठाकरे की तरह। ये दोनों शनिदेव अपनी सामर्थ्य की स्वीकृति कराने का उद्यम रचते रहते हैं। अब क्या कहें कि अपने तैंतीस करोड़ देवताओं में शनि देव की सोच बिल्कुल एक तानाशाह सनकी देवता की तरह है जो अपनी संप्रभु सत्ता का लोभी है। कुछ अलग नहीं हैं हमारे आधुनिक शनिदेव- आचरण में। हाँ आवरण में हमारे शनि ‘राज’ शनि देव से बीस ठहरते हैं।
मैं महाराष्ट्र से, मुंबई से डरने लगा था। कारण शनि देव (राज ठाकरे) ही थे।

ज ‘हिन्दुस्तान’ अखबार में एक ख़बर पढ़ी। महाराष्ट्र में अहमदनगर जिले में एक गाँव है- शनि शिंगणापुर। इस गाँव में घर में दरवाजे नहीं, दफ्तरों दुकानों में दरवाजे, खिड़कियाँ नहीं; जहाँ दरवाजे हैं वहां ताला नहीं। विचित्र लगता है सुनकर। यहाँ पिछले चार सौ सालों में एक भी चोरी की घटना नहीं हुई। यहाँ झूठ बोलना पाप है। यहाँ कोई किसी का शत्रु नहीं, किसी को किसी बात का भय नहीं। इसका प्रमाण गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड में इसका ‘विश्व का सबसे न्यारा गाँव’ के रूप में दर्ज होना है। इस गाँव पर शनिदेव की कृपा है। यहाँ शनिदेव किसी को चोरी नहीं करने देते, किसी को झूठ नहीं बोलने देते। सच में विश्वास नहीं होता ।
मैं महाराष्ट्र से, शनि शिंगणापुर से प्रेम करने लगा हूँ । कारण शनि देव ही हैं।


पूरी ख़बर यहाँ पढ़ें

5 comments

  1. himanshu jee,
    kamaal hai, ye thakre prakran par ek naya anlge de diya aapne, jaankaree achhe lagee aur andaaj bhee likhte rahein.

  2. लेकिन इस शनि को कोई नहीं कहेगा … '' ……. तं नमामि शनैश्चरं …. '' !

  3. I usually don’t leave remarks at blogs, but your post inspired me to comment on your blog. Thank you for sharing!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *